jepekeÀer³e ceefnuee ceneefJeÐeeue³e

(Government Girls Degree College), डी.एल.डब्ल्यू, वाराणसी

Recognized u/s 2(f) and 12B of University Grants Commission Act, 1956

Affilliated to Mahatma Gandhi Kashi Vidyapith, Varanasi

Rovers and Rangers

विद्यार्थियों के मध्य सेवा-भावना एवं संगठनात्मक क्षमता उत्पन्न करने की दृष्टि से रेंजर्स एवं रोवर्स दल जो गाइडिंग का उच्च रूप है, का गठन किया जाता है। ये दल सामाजिक विषमताओं, कुरीतियों, अंधविश्वासों को दूर करने के साथ-साथ विभिन्न क्षेत्र में सामाजिक सहायता का कार्य करता है। इसमें निष्ठापूर्वक किये गये महत्वपूर्ण कार्यों पर राष्ट्रपति पदक तक प्राप्त हो सकतें हैं।

भारत वर्ष में स्काउट एवं गाइड आन्दोलन राष्ट्र निर्माण, राष्ट्रीय एकता और विशेषतः युवा वर्ग के मानसिक, शारीरिक एवं आध्यात्मिक उन्नति के लिए एक सशक्त माध्यम के रूप में उभरा है। इस आन्दोलन के विस्तार की प्रक्रिया को सुदृढ़ करने के लिए बेडेन पावेल ने युवा वर्ग को रोवर्स/रेंजर्स की संज्ञा देते हुए उनके दलों की स्थापना पर बल दिया था।

युवा शक्ति को अनुशाषन करने, उनमें सेवा भाव, भाई-चारा, संगठन एवं नेतृत्वकी भावना विकसित करने तथा उन्हें भविष्य में निर्माणार्थ दिशा मूलक सिद्धान्तों से अवगत कराने की दृष्टि से इस महाविद्यालय में रोवर्स क्रू तथा रेंजर्स टीम की स्थापना की गयी है। 18 से 25 वर्श की आयु वर्ग के छात्राओ के वर्ग को रोवर्स क्रू तथा रेंजर्स दल का नाम दिया गया है। प्रत्येक दल में 24 सदस्य होंगे।

प्रशिक्षण शिविर के दौरान प्रशिक्षिका को सम्मानित करतीं रेंजर्स प्र्रभारी डॉ० उमा श्रीवास्तव।

प्रशिक्षण शिविर में साहसिक प्रदर्शन करती प्रतिभागी रेंजर्स।

fशविर में प्रस्तुति देतीं रेंजर्स।

प्रशिक्षण शिविर के अंतिम दिन दीक्षा कार्यक्रम में सलामी देती प्रशिक्षु रेंजस।